हापुड़ की कहानी लायी ऑस्कर Academy Award 2019 Period. End Of Sentence

Academy Award 2019 Period. End Of Sentence | Oscar award for short film


हम सभी ऑस्कर अवार्ड के बारे मे भली भाति जानते है ये फिल्मी दुनिया का सबसे सर्वोच अवार्ड है जो 2019 मे दोकुमेंटरी फिल्म या एकेडमी अवार्ड 2019 भारतीय डोकुमेंट्री फिल्म ने अपने नाम कर लिया है। अमेरिका के लॉस एंजिलिस में संपन्न हुए यह पल हर भारतीय के लिए यादगार रहेगा। यह डोकुमेंट्री फिल्म उत्तर प्रदेश के हापुड़ के काठीखेड़ा  गांव की महिलाओं के के ऊपर आधारित है है। यह डॉक्यूमेंट्री फिल्म Period. End Of Sentence ने शॉर्ट फिल्म के वर्ग के अंतर्गत अवार्ड जीता है।

Academy Award 2019


ये कहानी है दिल्ली से 100 km. दूर उत्तर प्रदेश के एक छोटे से शहर हापुर की महिलाओ की कहानी है जिनहोने महिलाओ की कुछ वर्सों से चली आ रेही मासिक धर्म की धारणाओ के खिलाफ एक मुहिम निकाल दी। इस फिल्म मे उन औरतों को जागृत किया गया है जो जो सैनिटरि पैड युज नहीं करती थी। वो महिलाए sanitary pad की जगह कपड़े का युज करती थी। जिसके चलते उन्हे कई प्रकार के स्वास्थ्य संबंधी परेशानी, इन्फ़ैकशन का सामना करना पडता था। उनके साथ ऐसा इसलिए होता था की उनको इसके बारे मे कुछ भी नहीं पता था की सैनिटरि पैड होता क्या है उनको मासिक समय मे काफी दिक्कतों का सामना काना पडता था periods आने पर उनको कभी स्कूल मे एबसेंट होना पड़ता था तो कभी एक्जाम भी छोडना पड जाता था। इसके वह पे सैनिटरि पड बनाने की मशीन बैठाई जाती है जिससे वह पे एक नयी आशा की किरण दिखती है इस फिल्म की प्रोड्यूसर Melissa Berton है इस शॉर्ट फिल्म की शूटिंग गाव मे ही हुआ था।

Post a Comment

0 Comments