Skip to main content

लॉकडाउन में घर लौटे श्रमिकों के लिए मोदी सरकार का मेगा प्लान, रोजगार देने की तैयारी- Modi Government



मोदी
 सरकार के द्वारा देश के 6 राज्यों के उन 116 जिलों की पहचान की है, जहां लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर वापस लौट कर आये हैं. 

भारत सरकार ने लॉकडाउन के कारण रोजी-रोटी और रोजगार गंवाने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए मेगा प्लान तैयार किया है. केंद्र सरकार ने देश के 6 राज्यों के उन 116 जिलों की पहचान की है, जहां लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर वापस अपने घर लौट कर आये हैं.

सरकार ने ऐसे प्रवासी मजदूरों के लिए एक मेगा प्लान तैयार किया है. इसके अंतर्गत लॉकडाउन के दौरान अपने राज्यों और गांवों को लौटे करोड़ों प्रवासी मजदूरों के पुनर्वास और रोजगार के लिए पूरा खाका तैयार किया गया है. 

सरकार इन 116 जिलों में केंद्र सरकार के सोशल वेलफेयर और डायरेक्ट बेनिफिट स्कीम को तेजी से मिशन मोड में चलाएगी ताकि इसका लाभ लोगों को दिया जा सके .

इसका मकसद है कि घर लौटे प्रवासियों के लिए आजीविका, रोजगार, कौशल विकास और गरीब कल्याण सुविधाओं का लाभ सुनिश्चित किया जा सके जिससे इनलोगों की जीविका चल सके.

इन जिलों में मनरेगा, स्किल इंडिया, जनधन योजना, किसान कल्याण योजना, खाद्य सुरक्षा योजना, पीएम आवास योजना समेत अन्य केंद्रीय योजनाओं के तहत मिशन मोड में काम किया जायेगा.


इन सबके अलावा, हाल ही में पीएम मोदी द्वारा घोषित आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत इन जिलों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही बाकी केंद्रीय योजनाओं को भी निश्चित तरीके से लागू किया जाएगा.

केंद्र सरकार के अधीन मंत्रालयों को भी निर्देशित गया है कि दो हफ्ते में इन जिलों को ध्यान में रखकर योजनाओं का प्रस्ताव तैयार करके पीएमओ को भेजें.


केंद्र सरकार की तरफ से चयनित 116 जिलों में सबसे ज्यादा 32 जिले बिहार, यूपी के 31 जिले ,मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22 , झारखंड के 3 और ओडिशा के 4 जिले शामिल हैं.

बताते चले कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान श्रमिकों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. लॉकडाउन के दौरान रोज़गार बंद होने के वजह से श्रमिकों के लिए जीविकोपार्जन का विशाल संकट खड़ा हो गया है.

इसकी वजह से देशभर में मजदूरों का पलायन शुरू हो गया. गांव घर लौटने के क्रम में श्रमिकों को तमाम संकटों का सामना करना पड़ा. इसी को ध्यान में रख कर सरकार कुछ अहम कदम उठाने जा रही है ताकि घर लौटे श्रमिकों के रोजगार का इंतजाम किया जा सके और उन्हें ऐसे विपत्ति के समय मदद पहुंचाई जा सके.

Comments

Popular posts from this blog

Forex Foreign Exchange Market: विदेशी मुद्रा बाजार

  Forex Foreign Exchange Market विदेशी मुद्रा बाजार को एफएक्स के रूप में भी जाना जाता है या इसे Forex के रूप में भी जाना जाता है। इन तीनों का एक ही अर्थ है, जो विभिन्न कंपनियों, बैंकों, व्यवसायों और विभिन्न देशों में स्थित सरकारों के बीच व्यापार का व्यापार है। वित्तीय बाजार वह है जो हमेशा दलालों, और बैंकों के माध्यम से पूरा होने के लिए आवश्यक लेनदेन को छोड़कर बदल रहा है। विदेशी मुद्रा व्यापार में कई घोटाले सामने आए हैं, क्योंकि विदेशी कंपनियां और लोग ऐसे लोगों का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन सेटिंग कर रहे हैं, जिन्हें यह महसूस नहीं होता है कि विदेशी व्यापार ब्रोकर या कंपनी के माध्यम से होना चाहिए, जिसमें प्रत्यक्ष विदेशी भागीदारी शामिल है। विदेशी मुद्रा बाजारों के माध्यम से नकद, स्टॉक और मुद्रा का कारोबार किया जाता है। जब एक मुद्रा दूसरे के लिए कारोबार की जाती है, तो फॉरेक्स बाजार मौजूद और मौजूद रहेगा। एक यात्रा के बारे में सोचें जो आप किसी विदेशी देश में ले जा सकते हैं। आप उस देश के अन्य धन के मूल्य के लिए अपने पैसे का व्यापार करने में सक्षम होने जा रहे हैं? यह विदेशी मुद्रा व्यापार का आ

Coronavirus Prevention Tips: ऐसी आदतें आपको कर सकती है कोरोना वायरस से संक्रमित, हो जाएं सावधान

Coronavirus Prevention Tips: कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में काफी तेजी से फैल रहा है। इन दिनों आप शायद एक गलती कर रहे होंगे, जिसकी वजह से आप भी इस संक्रमण के दायरे में आ सकते हैं। इसके बचाव हेतु आपको नीचे पूरी जानकारी दी जा रही है। कोरोना वायरस की चपेट में दुनिया के अनेको देश आ चुके हैं और अब तक लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके  है। भारत में भी कोरोना वायरस का प्रकोप बड़ी तेजी से फैलता जा रहा है जिसे देखते हुए आपको काफी सावधानी बरतनी होगी। अगर आप संक्रमण से बचे रहने के लिए सारे उपाय कर रहे हैं, लेकिन फिर भी आपको इस बात की घबराहट है कि कहीं आप संक्रमित  ना हो जाए, तो शायद यह आपके लिए बहुत बड़ी गलती साबित हो सकती है। इसके बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं। Coronavirus Prevention Tips आप भी इस बात को सुनकर हैरान होंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है कि सारे बचाव टिप्स को अपनाने के बाद भी हम संक्रमण की जद में आ सकते हैं। दरअसल, संक्रमण होने का डर ही आपको संक्रमण की चपेट में ला सकता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि डरने के कारण आपका शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाएगा और आप बड़ी आसानी से कोरोना व

15 अगस्त को लॉन्च की जा सकती है कोरोना की देसी वैक्सीन COVAXIN

COVAXIN 15 अगस्त को कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) लॉन्च होने की उम्मीद है. इस वैक्सीन का निर्माण फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक ने किया है. ह्यूमन ट्रायलट्रायल सफल होने पर लॉन्च होगी वैक्सीन कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच एक अच्छी खबर आ रही है. 15 अगस्त को कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) लॉन्च हो सकती है और इस वैक्सीन को फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार किया है. भारत बायोटेक और आईसीएमआर की तरफ से वैक्सीन लॉन्चिंग की संभावना  है. हाल ही में सरकार द्वारा कोवैक्सीन को ह्यूमन ट्रायल की इजाजत मिली है. आईसीएमआर की ओर से जारी लेटर के मुताबिक, 7 जुलाई से ह्यूमन ट्रायल की प्रक्रिया शुरू हो जाएगा. इसके बाद अगर सभी ट्रायल सही हुए तो उम्मीद है कि 15 अगस्त तक कोवैक्सीन को लॉन्च किया जा सकता है. सबसे पहले भारत बायोटेक की वैक्सीन मार्केट में लांच की जा सकती है. इस लेटर को आईसीएमआर और सभी स्टेकहोल्डर (जिसमें एम्स के डॉक्टर भी शामिल हैं) ने सर्कुलर किया है. उनका मानना है कि अगर ट्रायल भिन्न चरण में सफल हुआ तो 15 अगस्त तक कोरोना की वैक्सीन कोवैक